SEO क्या है और ये कैसे काम करता है?

SEO क्या है और ये ब्लॉग के लिए क्यों जरूरी है? यह सवाल अक्सर कई नए bloggers को बहुत परेशान करता है। आज के डिजिटल युग में अगर आपको लोगों के सामने आना है तो ऑनलाइन ही एक ऐसा जरिया है जहां आप एक साथ करोड़ों लोगों के सामने उपस्थित हो सकते हैं।

यहां आप चाहें तो वीडियो के जरिए या फिर अपने कंटेंट के जरिए लोगों तक पहुंच सकते हैं। लेकिन ऐसा करने के लिए आपको सर्च इंजन के पहले पेज पर आना होगा क्योंकि ये वो पेज हैं जिन्हें विजिटर ज्यादा पसंद करते हैं और उन पर ज्यादा भरोसा करते हैं।

लेकिन यहां तक ​​पहुंचना इतना आसान काम नहीं है क्योंकि इसके लिए आपको अपने articles का ठीक से SEO करना होगा। मतलब कि उन्हें सही तरीके से optimized करना होगा ताकि उन्हें सर्च इंजन में रैंक किया जा सके। और इसकी प्रक्रिया को SEO कहते हैं। जबकि आज के इस लेख में हम SEO (What is SEO) क्या है और इसे कैसे करें, इसकी जानकारी प्राप्त करेंगे।

इस तरह ब्लॉग्गिंग की life SEO है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यदि आप कोई अच्छा लेख लिखना चाहते हैं, यदि आपके लेख की रैंक ठीक से नहीं है, तो उसमें ट्रैफ़िक आने की संभावना न के बराबर है। ऐसे में लेखकों की सारी मेहनत पानी में चली जाती है।

तो अगर आप ब्लॉग्गिंग को लेकर सीरियस हैं तो आपको SEO Tutorials की जानकारी जरूर रखनी चाहिए। ऐसा करने से वे आगे चलकर आपके बहुत काम आने वाले हैं। SEO के ऐसे कोई नियम नहीं हैं, बल्कि यह कुछ Google Algorithms पर आधारित है और यह लगातार बदलता रहता है।

एक बात का ध्यान रखना चाहिए कि अगर कोई आपसे कहे कि वह एक बड़ा SEO Expert है तो उस पर कभी विश्वास न करें क्योंकि आज तक कोई भी SEO में महारत हासिल नहीं कर पाया है।

iconGoogle में ब्लॉग या वेबसाइट को जल्दी कैसे Rank करवाएं?

यह बात कुछ इस प्रकार है और यह समय के साथ और आवश्यकता के अनुसार बदलती रहती है। लेकिन फिर भी, Google SEO गाइड के कुछ बुनियादी सिद्धांत हैं जो हमेशा समान होते हैं। इसलिए bloggers को हमेशा खुद को नई SEO तकनीकों से अपडेट रखना चाहिए।

इससे आपको मार्केट में चल रहे ट्रेंड्स के बारे में पता चल जाएगा, जिससे आप अपने articles में जरूरी बदलाव भी ला सकते हैं, जिससे आपको बाद में रैंक करने में मदद मिलेगी।

आज हम SEO के बारे में जानेंगे या SEO क्या है? दोस्तों, पिछले लेख में हमने जाना था कि क्या ऑनलाइन पैसा कमाना आसान है? Blogging भी एक ऐसा Platform है जो आपको online पैसे कमाने का जरिया देता है।

मैंने आपको ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित बहुत सारी जानकारी दी है जो आपके ब्लॉग को सफल बनाने के लिए बहुत उपयोगी हो सकती है।

लेकिन उन सभी चीजों से ज्यादा महत्वपूर्ण है जो ब्लॉगिंग करियर में सफलता पाने के लिए बहुत मायने रखती हैं, वह है SEO, आज हम जानेंगे कि सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन क्या है और ब्लॉग के लिए क्यों जरूरी है?

SEO क्या है?

SEO क्या है या सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन एक ऐसी तकनीक है जिसके द्वारा हम अपने पेज को सर्च इंजन में सबसे ऊपर लाते हैं। हम सभी जानते हैं कि सर्च इंजन क्या होता है। Google पूरी दुनिया में सबसे लोकप्रिय सर्च इंजन है, इसके अलावा Bing, Yahoo जैसे अन्य सर्च इंजन भी हैं। SEO की मदद से हम अपने ब्लॉग को सभी सर्च इंजन पर नंबर 1 की स्थिति में रख सकते हैं।

उदाहरण के लिए अगर हम Google में जाकर कोई keyword टाइप करके सर्च करते हैं तो गूगल आपको उस कीवर्ड से संबंधित सभी कंटेंट दिखाता है। ये सभी सामग्री जो हम देखते हैं वह अलग-अलग ब्लॉगों से आती है।

जो रिजल्ट हम top पर देखते हैं वह गूगल में नंबर 1 रैंक पर है, तभी इसने टॉप पर अपनी जगह बनाए रखी है। नंबर 1 पर इसका मतलब है कि उस ब्लॉग में SEO का बहुत अच्छा इस्तेमाल किया गया है जिससे उसे ज्यादा विजिटर मिलते हैं और इसी वजह से वह ब्लॉग फेमस हो गया है।

SEO हमारे ब्लॉग को Google में नंबर 1 रैंक पर लाने में मदद करता है। यह एक ऐसी तकनीक है जो वेबसाइट को सर्च इंजन के सर्च रिजल्ट में सबसे ऊपर रखने से विजिटर्स की संख्या बढ़ती है।

अगर आपकी वेबसाइट सर्च रिजल्ट में सबसे ऊपर है तो इंटरनेट users सबसे पहले आपकी साइट पर आएंगे जिससे आपकी साइट पर ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक आने की संभावना बढ़ जाती है और आपकी इनकम भी अच्छी होने लगती है। अपनी वेबसाइट पर organic traffic बढ़ाने के लिए SEO का इस्तेमाल करना बहुत जरूरी है।

SEO का full form क्या है?

SEO का full form “Search Engine Optimization” है।

Blog के लिए SEO क्यों जरूरी है?

आपने सीख लिया है कि SEO क्या है, आइए अब जानते हैं कि यह ब्लॉग के लिए SEO क्यों जरूरी है। हम अपनी वेबसाइट को लोगों के लिए सुलभ बनाने के लिए SEO का उपयोग करते हैं।

मान लीजिए मैंने एक वेबसाइट बनाई है और उसमें अच्छी क्वालिटी का कंटेंट भी प्रकाशित किया है, लेकिन अगर मैं SEO का इस्तेमाल नहीं करता तो मेरी वेबसाइट लोगों तक नहीं पहुंच पाएगी और मेरी वेबसाइट बनाने में कोई फायदा नहीं होगा।

यदि हम SEO का उपयोग नहीं करेंगे, तो जब भी कोई user किसी keyword की खोज करेगा, भले ही आपकी वेबसाइट में उस कीवर्ड से संबंधित कोई सामग्री हो, तब भी user आपकी वेबसाइट पर जाएगा। प्रवेश नहीं कर पाएगा।

ऐसा इसलिए है क्योंकि सर्च इंजन न तो आपकी साइट को ढूंढ पाएगा और न ही वह आपकी वेबसाइट के कंटेंट को अपने डेटाबेस में स्टोर कर पाएगा। इससे आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक आना बहुत मुश्किल होगा। इसलिए आपकी साइट पर SEO ठीक से करना बहुत जरूरी है।

SEO को समझना इतना मुश्किल नहीं है, अगर आप इसे सीख लेते हैं, तो आप अपने ब्लॉग को काफी बेहतर बना सकते हैं और सर्च इंजन में उसकी value बढ़ा सकते हैं।

SEO सीखने के बाद जब आप इसे अपने ब्लॉग के लिए इस्तेमाल करेंगे तो आपको इसका रिजल्ट तुरंत नहीं दिखेगा इसके लिए आपको धैर्य रखना होगा और अपना काम करते रहना होगा. क्योंकि सब्र का फल मीठा होता है और आपको अपनी मेहनत का रंग दिखाई देगा।

जैसे की मैं पहले ही कह चुका हूँ की कैसे रैंकिंग और ट्रैफिक के लिए SEO करना जरुरी हो जाता है. आइए जानते हैं सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के महत्व के बारे में:

अधिकांश उपयोगकर्ता अपने प्रश्नों के उत्तर पाने के लिए इंटरनेट पर सर्च इंजन का उपयोग करते हैं। ऐसे में वे सर्च इंजन द्वारा दिखाए जाने वाले टॉप रिजल्ट पर ज्यादा ध्यान देते हैं। ऐसे में अगर आप भी लोगों के सामने आना चाहते हैं तो आपको भी ब्लॉग को रैंक कराने के लिए SEO की मदद लेनी होगी.

iconSEO Friendly Blog Post कैसे लिखें? हिंदी में पूरी जानकारी

SEO सिर्फ सर्च इंजन के लिए नहीं है बल्कि अच्छी SEO practice करने से user experience को बढ़ाने में मदद मिलती है और आपकी वेबसाइट की उपयोगिता भी बढ़ जाती है।

उपयोगकर्ता ज्यादातर केवल top results पर भरोसा करते हैं और इससे उस वेबसाइट का विश्वास बढ़ता है। इसलिए SEO के सन्दर्भ में जानना बहुत जरूरी है।

आपकी साइट के social promotion के लिए SEO भी बहुत महत्वपूर्ण है। क्योंकि जो लोग आपकी साइट को google जैसे सर्च इंजन में देखते हैं, तो उनमें से ज्यादातर लोग सोशल मीडिया को पसंद करते हैं। Facebook, Twitter, पर शेयर जरूर करें।

SEO किसी भी साइट की ट्रैफिक बढ़ाने में अहम भूमिका निभाता है।

SEO आपको किसी भी प्रतियोगिता में आगे रहने में मदद करता है। उदाहरण के लिए, यदि दो वेबसाइटें समान चीजें बेच रही हैं, तो जो वेबसाइट SEO अनुकूलित है वह अधिक ग्राहकों को अपनी ओर आकर्षित करती है और उनकी बिक्री भी बढ़ जाती है जबकि अन्य उतना नहीं कर पाते हैं।

SEO के प्रकार

SEO दो प्रकार के होते हैं, एक है Onpage SEO और दूसरा Offpage SEO है। इन दोनों का काम बिल्कुल अलग है, आइए इनके बारे में भी जानते हैं।

  • ONpage SEO
  • Offpage SEO
  • Local SEO

1. ON-Page SEO

आपके ब्लॉग में On-Page SEO का काम होता है. इसका मतलब है अपनी वेबसाइट को ठीक से डिजाइन करना जो SEO फ्रेंडली हो।

SEO Using theme के नियम का पालन करके अपनी वेबसाइट पर। अच्छी सामग्री लिखना और उन search words का उपयोग करना जो search engine में सबसे अधिक खोजे जाते हैं।

Page पर title, meta description जैसे कीवर्ड का सही जगह पर उपयोग करना, content में कीवर्ड का उपयोग करना Google के लिए यह जानना आसान बनाता है कि आपकी content किस पर लिखी गई है और आपकी वेबसाइट को Google page पर जल्दी से रैंक करने में मदद करता है। जिससे आपके ब्लॉग का ट्रैफिक बढ़ता है।

iconBlogspot ब्लॉग में Meta Description कैसे डाले? SEO के लिए Meta Description कितना जरूरी है?

On-Page SEO कैसे करें?

यहां हम कुछ ऐसी तकनीकों के बारे में जानेंगे, जिनकी मदद से हम अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर अच्छे तरीके से On-Page SEO कर पाएंगे।

1. वेबसाइट स्पीड

SEO की दृष्टि से Website speed एक बहुत ही महत्वपूर्ण कड़ी है। एक सर्वे से पता चला है कि कोई भी विजिटर किसी ब्लॉग या वेबसाइट पर ज्यादा से ज्यादा 5 से 6 सेकेंड तक रुकता है।

यदि यह इस समय के भीतर नहीं खुलता है, तो यह इसे छोड़ कर दूसरे में चला जाता है। और यह Google के लिए भी लागू होता है क्योंकि यदि आपका ब्लॉग जल्दी नहीं खुलता है तो Google के पास एक नकारात्मक संकेत पहुंचता है कि यह ब्लॉग उतना अच्छा नहीं है या बहुत तेज़ नहीं है। इसलिए अपनी साइट की स्पीड यथासंभव अच्छी रखें।

यहां मैंने कुछ महत्वपूर्ण टिप्स दिए हैं जिनसे आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट की स्पीड बढ़ा सकते हैं:

  • सरल और आकर्षक विषयों का प्रयोग करें
  • बहुत अधिक plugins का उपयोग न करें
  • इमेज का साइज कम से कम रखें
  • W3 Total Use cache और WP super cache plugins

2. वेबसाइट का नेविगेशन

अपने ब्लॉग या वेबसाइट में इधर-उधर घूमना आसान होना चाहिए ताकि किसी भी विजिटर और गूगल को एक पेज से दूसरे पेज पर जाने में कोई परेशानी न हो। वेबसाइट का navigation जितना आसान होगा, किसी भी सर्च इंजन को साइट पर navigate करने में भी उतनी ही आसानी होगी।

3. Title Tag बनाओ

Title Tag आपकी वेबसाइट पर बहुत अच्छा है ताकि अगर कोई visitor इसे पढ़ता है, तो जितनी जल्दी हो सके अपने Title पर क्लिक करें, इससे आपकी CTR भी बढ़ जाएगी।

कैसे बनाएं एक अच्छा Title Tag? अपने टाइटल में 65 से ज्यादा शब्दों का प्रयोग न करें क्योंकि गूगल 65 शब्दों के बाद टाइटल सर्च करता है। टैग नहीं दिखाता है।

4. URL कैसे लिखे?

पोस्ट हमेशा अपने पोस्ट का URL जितना हो सके उतना सरल और छोटा रखें।

5. Internal Link

यह आपकी पोस्ट को रैंक करने का एक शानदार तरीका है। इससे आप अपने related pages को आपस में interlink कर सकते हैं। इससे आपके सभी interlinked pages को आसानी से रैंक किया जा सकता है।

6. Alt Tag

अपनी वेबसाइट के पोस्ट में इमेज का प्रयोग अवश्य करें। क्योंकि इमेज से आपको काफी ट्रैफिक मिल सकता है इसलिए इमेज का इस्तेमाल करते समय उसमें ALT TAG लगाना न भूलें।

iconBlogger Image को SEO Friendly कैसे बनाये? Full Hindi Guide

7. Content, Heading और कीवर्ड के बारे में

Content जैसा कि हम सभी जानते हैं कि यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण कड़ी है। क्योंकि Content को king भी कहा जाता है और आपका कंटेंट जितना अच्छा होगा, साइट की value उतनी ही बेहतर होगी। इसलिए कम से कम 800 शब्दों से ज्यादा का कंटेंट लिखें।

इससे आप पूरी जानकारी भी दे सकते हैं और यह SEO के लिए भी अच्छा है। कभी भी किसी और से सामग्री चोरी या कॉपी न करें।

Heading: अपने article के Headings का विशेष ध्यान रखना चाहिए क्योंकि इसका SEO पर बहुत अच्छा प्रभाव पड़ता है। आर्टिकल का टाइटल H1 है और इसके बाद आप subheading को H2, H3, आदि से nominate कर सकते हैं। इसके साथ आप फोकस कीवर्ड का इस्तेमाल जरूर करें।

Keyword: अपना article लिखते समय LSI Keyword का इस्तेमाल करें। इससे आपके लोगों के सर्च आसानी से किए जा सकते हैं। लिंक कर सकते हैं। इसके साथ, महत्वपूर्ण कीवर्ड को bold करें ताकि Google और विज़िटर को पता चले कि ये महत्वपूर्ण कीवर्ड हैं और उनका ध्यान इसकी ओर आकर्षित होगा।

ये On-Page SEO के बारे में कुछ जानकारी के बारे में कुछ बिंदु थे।

2. Off-page SEO

Off Page SEO का सारा काम Blog के बाहर किया जाता है। Off-Page SEO में हमें अपने Blog का प्रचार करना होता है, जैसे बहुत से लोकप्रिय Blogs पर जाना, उनके article पर Comment करना और अपनी Website का Link submit करना, हम ऐसा करते हैं। Backlink कहा जाता है। Backlinks से वेबसाइट को बहुत फायदा होता है।

iconBacklink क्या है और Quality Backlink कैसे बनाये? पूरी जानकारी हिंदी में

Facebook, Twitter, Quora जैसी सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर अपनी वेबसाइट का एक आकर्षक पेज बनाएं और अपने followers बढ़ाएं, इससे आपकी वेबसाइट पर अधिक विज़िटर बढ़ने की संभावना है।

बड़े-बड़े ब्लॉग जो बहुत लोकप्रिय हैं, उनके ब्लॉग पर गेस्ट पोस्ट सबमिट करें, इससे उनके ब्लॉग पर आने वाले लोग आपको जान पाएंगे और आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक आना शुरू हो जाएगा।

Off-page SEO कैसे करें?

यहां मैं आपको कुछ Off Page SEO Techniques के बारे में बताऊंगा जो बाद में आपके लिए काफी उपयोगी साबित होंगी।

1. Search engine submission: आपकी वेबसाइट सभी सर्च इंजनों में ठीक से सबमिट होनी चाहिए।

iconYahoo, Bing में ब्लॉग को कैसे Submit या Add करें? Full Hindi Guide

2. Bookmarking: आपके Blog या Website के Page और Post को Bookmarking के साथ Website पर सबमिट कर देना चाहिए।

3. Directory Submission: आपका ब्लॉग या वेबसाइट एक लोकप्रिय high PR वाली directory में सबमिट की जानी चाहिए।

4. सोशल मीडिया: आपको अपने ब्लॉग या वेबसाइट पेज और सोशल मीडिया पर एक प्रोफाइल बनाना चाहिए और अपनी वेबसाइट जैसे फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन पर एक लिंक जोड़ना चाहिए

5. Classified Submission: आपको फ्री Classified वेबसाइट पर जाकर अपनी वेबसाइट का फ्री में विज्ञापन देना चाहिए।

6. Q & A site: आप प्रश्न और उत्तर वेबसाइट पर जाकर कोई भी प्रश्न पूछ सकते हैं और आप अपनी साइट का लिंक डाल सकते हैं।

7. ब्लॉग commenting: आप अपने ब्लॉग से संबंधित ब्लॉग पर जाकर उनकी पोस्ट पर कमेंट कर सकते हैं और अपनी वेबसाइट का लिंक डाल सकते हैं (लिंक वहीं रखा जाना चाहिए जहां वेबसाइट लिखी हो)

8. Pin: आप अपनी वेबसाइट की इमेज Pinterest पर पोस्ट कर सकते हैं, यह ट्रैफिक बढ़ाने का एक बहुत अच्छा तरीका है।

9. Guest Post: आप अपनी वेबसाइट से संबंधित ब्लॉग पर जाकर Guest Post कर सकते हैं, यह सबसे अच्छा है जहाँ से आप do-follow link ले सकते हैं और वह भी सही तरीके से।

iconCanonical URL होता क्या है? In Hindi

3. Local SEO

अक्सर लोग पूछते हैं कि Local SEO क्या है? अगर मैं विश्वास करूँ, तो उत्तर प्रश्न में ही निहित है।

यदि आप local SEO करते हैं तो यह दो शब्दों Local+SEO का योग है। यानी SEO को local audience को ध्यान में रखकर किया जाता है जिसे Local SEO कहा जाता है।

यह एक ऐसी तकनीक है जिसमें आपकी वेबसाइट या ब्लॉग को विशेष रूप से अनुकूलित किया जाता है ताकि यह स्थानीय दर्शकों के लिए search engine पर बेहतर रैंक कर सके।

वैसे तो एक वेबसाइट की मदद से आप पूरे इंटरनेट को टारगेट कर सकते हैं, वहीं अगर आप सिर्फ एक खास locality को टारगेट करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको local SEO का इस्तेमाल करना होगा।

इसमें आपको अपने शहर के नाम को optimized करना होगा, वहीं इसके address detail को भी एक साथ optimize करना होगा। जबकि संक्षेप में कहें तो आपको अपनी साइट को इस तरह से optimized करना होगा कि लोग न केवल ऑनलाइन हों बल्कि ऑफलाइन में भी आपको जान सकें।

Local SEO का उदाहरण

यदि आपका कोई स्थानीय व्यवसाय है, जैसे कि एक दुकान, जहाँ लोग अक्सर आपके पास आते हैं, तो यदि आप अपनी वेबसाइट को इस तरह से अनुकूलित करते हैं कि लोग वास्तविक जीवन में भी आप तक आसानी से पहुँच सकें।

यदि यहां आप केवल अपने स्थानीय क्षेत्र को लक्षित करते हैं और SEO ने आपकी साइट को तदनुसार अनुकूलित किया है। तब इस प्रकार के SEO को “Local SEO” कहा जाता है।

SEO और इंटरनेट मार्केटिंग में क्या अंतर है?

बहुत से लोगों के मन में SEO और Internet Marketing को लेकर कई तरह के संदेह होते हैं। उन्हें लगता है कि ये दोनों अक्सर एक ही होते हैं। लेकिन इसके जवाब में मैं कहना चाहता हूं कि SEO एक प्रकार का tool है, इसे इंटरनेट मार्केटिंग का एक हिस्सा भी कहा जा सकता है। इसके इस्तेमाल से इंटरनेट मार्केटिंग करना बहुत ही आसान हो जाता है।

SEO और SEM में क्या अंतर है?

SEO का मुख्य उद्देश्य यह है कि आपके ब्लॉग/वेबसाइट को ठीक से optimized किया जा सके ताकि उसे सर्च इंजन में बेहतर रैंकिंग मिल सके। जबकि SEM से आप SEO से ज्यादा चीजें पा सकते हैं। क्योंकि यह केवल फ्री ट्रैफिक तक ही सीमित नहीं है बल्कि इसमें अन्य तरीके भी शामिल हैं जैसे PPC विज्ञापन आदि।

SEO के बारे में (शर्तें)

अगर आपके पास ब्लॉग या वेबसाइट है तो आपको basic SEO के बारे में बहुत कुछ पता होगा कि यह कैसे काम करता है। लेकिन मुझे पता है कि आप में से बहुतों को basic SEO के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

इसलिए मैंने सोचा कि क्यों न आप लोगों को कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण SEO terms के बारे में जानकारी दी जाए ताकि आप भी इसके बारे में जान सकें।

Backlink: इनलाइन या केवल लिंक भी कहा जाता है, यह किसी अन्य वेबसाइट का hyperlink है जो आपकी वेबसाइट की ओर इशारा करता है। SEO की दृष्टि से Backlinks बहुत महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि यह किसी भी वेबपेज की Search Ranking को सीधे तौर पर प्रभावित करता है।

Page rank: Page rank एक algorithm है जिसका उपयोग Google यह अनुमान लगाने के लिए करता है कि वेब पर कौन से अपेक्षाकृत महत्वपूर्ण पृष्ठ स्थित हैं।

Anchor text: किसी भी बैकलिंक का anchor text टाइप ऐसा टेक्स्ट होता है जिस पर क्लिक किया जा सकता है। अगर आपके anchor text में आपका कीवर्ड महजूद है तो यह SEO की दृष्टि से भी आपकी काफी मदद करेगा।

Title Tag: Title tag मुख्य रूप से किसी के लिए उपयोग किया जाता और यह Google के search algorithm के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण कारक है।

Meta tag: Title tag की तरह, meta tag का उपयोग करके, search engine को पता चलता है कि pages में सामग्री में क्या है।

Search algorithm: गूगल के search algorithm की मदद से हम यह पता लगा सकते हैं कि कौन से वेब पेज पूरे इंटरनेट में प्रासंगिक हैं। Google के Search Algorithm में करीब 200 algorithm काम करते हैं।

SERP: इसका फुल फॉर्म Search Engine Results Page है। यह मूल रूप से केवल उन्हीं पृष्ठों को दिखाता है जो Google खोज इंजन के अनुसार प्रासंगिक हैं।

Keyword Density: यह Keyword Density दर्शाता है कि article में किसी भी keyword को कितनी बार इस्तेमाल किया गया है। SEO की दृष्टि से कीवर्ड डेंसिटी बहुत महत्वपूर्ण है।

Keyword Stuffing: जैसा कि मैं पहले ही कह चुका हूँ कि SEO की दृष्टि से Keyword Density बहुत जरुरी है लेकिन अगर किसी Keyword का ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है तो उसे Keyword Stuffing कहते हैं। इसे Negative SEO कहा जाता है क्योंकि इससे आपके ब्लॉग पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

Robots.txt: यह उस domain में सिर्फ File से ज्यादा कुछ नहीं है जिसके root में रखा गया है। इसके इस्तेमाल से सर्च boots को वेबसाइट के structure के बारे में बताया जाता है।

Organic और inorganic result क्या हैं?

SERP (Search Engine Result Page) पर मुख्य रूप से दो तरह की लिस्टिंग होती है – organic और inorganic.

इसमें हमें Inorganic Listing के लिए Google को Payment करना होता है। यानी ये Paid होते हैं और इसमें पैसे देने पड़ते हैं.

जबकि organic listing पूरी तरह से फ्री है यानी हम बिना पैसे दिए गूगल के टॉप पेज पर भी आ सकते हैं, लेकिन इसके लिए आपको पहले SEO करना होगा।

क्या SEO हमेशा बदलता रहता है?

हाँ, SEO हमेशा बदलता रहता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि सर्च इंजन का algorithm हमेशा बदलता रहता है, उसी तरह हमें अपनी साइट में भी SEO को बदलना होगा ताकि यह SERP में सबसे ऊपर दिखाई दे।

सबसे अच्छी SEO रणनीति क्या है?

कोई SEO रणनीति सबसे अच्छी नहीं है। ऐसा इसलिए है क्योंकि SEO की रणनीति या तकनीक हमेशा बदलती रहती है। इसलिए किसी की रणनीति को सर्वश्रेष्ठ मानना ​​ठीक नहीं होगा। बेहतर होगा कि आप अपना शोध और प्रयोग करते रहें, इससे आपको सही काम करने वाली चीजों के बारे में जानने में मदद मिलेगी।

क्या Google रैंकिंग में पेज स्पीड मायने रखती है?

हां, Google रैंकिंग में पेज स्पीड का अलग महत्व है। पेज की स्पीड जितनी अच्छी होगी, आप उतनी ही आसानी से गूगल पर रैंक कर सकते हैं।

आज आपने क्या सीखा?

आप सभी समझ गए होंगे कि SEO क्या है (What is SEO)। अगर आपको इस लेख के बारे में कोई संदेह है या आप चाहते हैं कि इसमें कुछ सुधार होना चाहिए, तो आप इसके लिए टिप्पणियाँ लिख सकते हैं।

आसानी से अब आप बेझिझक उत्तर दे सकते हैं कि SEO क्या है। आपके इन्हीं विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मौका मिलेगा।

अगर आपको सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के बारे में मेरा लेख पसंद आया या आपको इससे कुछ सीखने को मिला, तो कृपया अपनी खुशी दिखाने के लिए इस पोस्ट को सोशल नेटवर्क जैसे फेसबुक, ट्विटर आदि पर शेयर करें। HAPPY BLOGGING